चैत्र नवरात्रि

(Chaitra Navratri)

नवरात्रि के पवित्र दिनों में, देवी के नौ रूपों की बहुत भव्यता के साथ पूजा की जाती है। ये हैं- मां शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चंद्रघंटा, कुष्मांडा, स्कंदमाता, कात्यायनी, कालरात्री, महागौरी और सिद्धिदात्री। चैत्र नवरात्रि का पहला दिन चंद्र कैलेंडर के अनुसार हिंदू नव वर्ष का प्रतीक है। भक्त मां दुर्गा की पूजा कर नए साल की शुरुआत करते हैं। इस दिन भक्त शैलपुत्री नामक देवी पार्वती के एक अवतार की पूजा करते हैं।

नवरात्रि में मां दुर्गा के नौ स्वरूपों की पूजा अर्चना की जाती है। नवरात्रि शब्द दो शब्दों को जोड़कर बना है जिसमें पहला शब्द ‘नव’ और दूसरा शब्द ‘रात्रि’ है जिसका अर्थ होता है नौ रातें। नवरात्रि पर्व भारत के कई राज्यों में मनाया जाता है। इस अवसर पर कई लोग पूरे नौ दिनों तक उपवास रख मां की अराधना करते हैं।

धार्मिक मान्यता है कि जो भक्त सच्चे मन से नवरात्रि व्रत का पालन करता है उसकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। नवरात्रि पूजा में मां दुर्गा के कुछ विशेष मंत्रों का जाप करने से जातकों को कई तरह के लाभ प्राप्त होते हैं।

शुभम भवतु

Astroruchi Dr.Abhiruchi Palsapure (Jain)

Astrologer

For more details call 9922113222

Visit

www.astroruchi.com

 

Chaitra Navratri - 2022